Indian Railway main logo
Search :
Increase Font size Normal Font Decrease Font size
   View Content in Hindi
National Emblem of India

About Us

IR Personnel

News & Recruitment

Tenders & Notices

Vendor Information

Public Services

Contact Us

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
16-03-2017
Safety award to 09 employees by GM NCR Shri M.C.Chauhan.

उत्‍तर मध्‍य रेलवे

प्रधान कार्यालय

जनसम्‍पर्क विभाग

इलाहाबाद।

संख्‍या:11पीआर/03/2017प्रेस विज्ञप्ति दिनांक- 15.03.2017

श्री एम.सी. चौहान,महाप्रबंधक, उत्‍तर मध्‍य रेलवे द्वारा 09कर्मचारियों कोसंरक्षा पुरस्‍कार

आज दिनांक 15.03.2017 को श्री एम.सी.चौहान, महाप्रबंधक, उत्‍तर मध्‍य रेलवे द्वारा रेल संरक्षा के लिए उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को महाप्रबन्‍धक संरक्षा पुरस्‍कार प्रदान किया गया। श्री एम.सी. चौहान,महाप्रबंधक, उत्‍तर मध्‍य रेलवे द्वारा उत्‍कृष्‍ट श्रेणी की संरक्षा सुनिश्चित करने वाले 09कर्मचारियों को महाप्रबन्‍धक संरक्षा पुरस्‍कार से पुरस्‍कृत किया गया। पुरस्‍कार वितरण के दौरान महाप्रबन्‍धक महोदय द्वारा पुरस्‍कृत कर्मचारियों का बधाई दी गयी एवं भविष्‍य में भी इसी सजगता, सतर्कता एवं समर्पण के साथ कार्य करते रहने का आहवान किया गया।

पुरस्कृत कर्मचारियो मे श्री शकील अहमद, लोको पायलट/ इलाहाबाददिनांक 03.09.2016 को गाड़ी संख्‍या डाउन 12295 इंजन नं. 22907/मुगलसराय पर कार्यरत थे। किमी. सं. 679/22-20 के मध्‍य 3 इन्‍च से 4 इन्‍चका रेल में गैप देखा एवं उस रेल से फिश प्‍लेट गायब था। अविलंब आपात ब्रेक लगाकर गाड़ी को खड़ी किया। 07.32 बजे पी.डब्‍ल्‍यू.आई द्वारा 30 किमी प्रति घंटा का कॉशन लगाया गया। श्री रविशंकर सिंह, सहायक लोको पायलट/ इलाहाबाद दिनांक 03.09.2016 को गाड़ी संख्‍या डाउन 12295 इंजन नं. 22907/मुगलसराय पर कार्यरत थे। किमी. सं. 679/22-20 के मध्‍य 3 इन्‍च से 4 इन्‍च का रेल में गैप देखा एवं उस रेल से फिश प्‍लेट गायब था। अविलंब आपात ब्रेक लगाकर गाड़ी को खड़ी किया। इनकी सतर्कता से समय रहते गाड़ी रोक ली गयी ।

श्री वीरेन्‍द्र कुमार, स्‍टेशन मास्‍टर/बरहन दिनांक 27.09.2016 को के-25 मालगाड़ी 06.27 बजे पास हो रही थी। इन्‍होंनेब्रेकवान से 02, 03, 04 गाड़ी का अवपथन देखा। तुरन्‍त कार्यवाही करते हुए ओएचई ऑफ कराया जिससे गाड़ी रूक गयी। उसी समयदादरी थ्रू पास हो रही थी। अप तथा डाउन ओएचई ऑफ कराने से दोनों गाडि़यां खड़ी हो गयी।

श्री प्रदीप कुमार पाल, गार्ड/इलाहाबाददिनांक 17.10.2016 को सीपीसी मालगाड़ी में कार्य करने के बाद इलाहाबाद यार्ड में दूसरे गार्ड कोचार्ज देने के बाद सीपीसी मालगाड़ी के नीचेकिमी. 825/1025 पर रेल फैक्‍चर देखा तथा सर्वसंबंधित को सूचित किया।

श्री विजय बहादुर, गेटमैन/कंसपुर गुगौलीगेट सं. 59-सी पर 17-1 की शिफ्ट में कार्यरत थे। गाड़ी स. 12314 डाउन एक्‍सप्रेस में जेनरेटर कार इर्आर 06856 एलडब्‍ल्‍ूएलआरआरएम में धुऑ निकलता देखा। ओएचई आफ कराकर मॉलवा एडवांस स्‍टाटर पर रोका गया जिसे अग्निशमन यंत्र से बुझाया गया। टीएक्‍सआर के द्वारा अगले जेनरेटर कार की कार्य प्रणाली को बन्‍द कर दिया गया।

श्री बच्‍चू सिंह, टेक्‍नीशियन प्रथम/कैं.वै./टुण्‍डलादिनांक 25.11.2016 को रोलिंग इन परीक्षण के दौरान गाड़ी सं. 3483 में कोच सं. ईआर 99278 डब्‍लूजीएससीएन (S-6) 8वॉ आर/एसएलआर डी/इण्‍ड ट्राली में लोवर हैंगर पिन मिसिंग की सूचना एसएसई/कै.वै. को देकर लगवाया और संरक्षा सुनिश्चित की ।

श्री शैलेन्‍द्र साहनी, लोको पायलट/कानपुर दिनांक 28.11.2016 को डाउन में आती गुड्स ट्रेन जीएन-187 में हैंगिंग पार्ट देखा, संरक्षित परिचालन को दृष्टिगत रखते हुए हैंगिंग पार्ट के विषय में वाकी-टाकी के माध्‍यम से डाउन ट्रेन के लोको पायलट को सूचित किया। इनकी सूचना पर गाड़ी को रसूलाबाद स्‍टेशन पर मेन लाइन में नियंत्रित किया तथा गाड़ी का जॉच करने पर ब्रेकवान से दूसरे वैगन सं. 22091578565 एससी में हैंगिंग पार्ट लटकता पाया गया तथा गार्ड द्वारा टीएक्सार की मॉग की।

श्री जुनैद आलम, सहायक लोको पायलट/कानपुर दिनांक 28.11.2016 को डाउन में आती गुड्स ट्रेन जीएन-187 में हैंगिंग पार्ट देखा, संरक्षित परिचालन को दृष्टिगत रखते हुए हैंगिंग पार्ट के विषय में वाकी-टाकी के माध्‍यम से डाउन ट्रेन के लोको पायलट को सूचित किया। इनकी सूचना पर गाड़ी को रसूलाबाद स्‍टेशन पर मेन लाइन में नियंत्रित किया तथा गाड़ी की जॉच करने पर ब्रेकवान से दूसरे वैगन सं. 22091578565 एससी में हैंगिंग पार्ट लटकता पाया गया तथा गार्ड द्वारा टीएक्सआर की मॉग की।

महाप्रबन्‍धक स्‍तर पर संरक्षा पुरस्‍कार हेतु प्रत्‍येक मण्‍डल द्वारा मण्‍डल रेल प्रबन्‍धक के अनुमोदन से ऐसे कर्मचारियों का नाम इस पुरस्‍कार हेतु अग्रसारित किया जाता है जिन्‍होंने दुर्घटना बचाने की दिशा में उल्‍लेखनीय योगदान दिया हो। प्राप्‍त प्रस्‍तावों की मुख्‍य संरक्षा अधिकारी मुख्‍य परिचालन प्रबन्‍धक, प्रमुख मुख्‍य अभियंता, वरि. उप महाप्रबन्‍धक की समिति द्वारा समीक्षा की जाती है। घटना की गंभीरता एवं कर्मचारी द्वारा दिखाई गई तत्‍परता, सजगता एवं सूझबूझ को देखते हुए समिति द्वारा अपनी अनुशंसा के साथ प्रस्‍ताव महाप्रबन्‍धक की स्‍वीकृति हेतु अग्रसारित कर दिया जाता है। महाप्रबन्‍धक महोदय की स्‍वीकृति प्राप्‍त होने के पश्‍चात तीनों मण्‍डलों से कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र, मेडल व नकद, पुरस्‍कार से पुरस्‍कृत किया जाता है। प्रत्‍येक कर्मचारियेां को मेडल, प्रशस्ति पत्र, 2000/- रू का नकद पुरस्‍कार प्रदान किया गया।





  Admin Login | Site Map | Contact Us | RTI | Disclaimer | Terms & Conditions | Privacy Policy Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2016  All Rights Reserved.

This is the Portal of Indian Railways, developed with an objective to enable a single window access to information and services being provided by the various Indian Railways entities. The content in this Portal is the result of a collaborative effort of various Indian Railways Entities and Departments Maintained by CRIS, Ministry of Railways, Government of India.