Indian Railway main logo
Search :
Increase Font size Normal Font Decrease Font size
   View Content in Hindi
National Emblem of India

About Us

IR Personnel

News & Recruitment

Tenders & Notices

Vendor Information

Public Services

Contact Us

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
18-04-2017
Organizing the annual 62nd Rail Week celebration in North Central Railway Headquarters,

उत्‍तर मध्‍य रेलवे

प्रधान कार्यालय

जनसम्‍पर्क विभाग

इलाहाबाद।

संख्या: 11 पीआर/04/2017 प्रेस विज्ञप्तिदिनांक – 13.04.2017

आज दिनांक 13.04.2017 को उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय प्रांगण मे,वार्षिक 62वें रेल सप्ताह समारोह के मुख्य कार्यक्रम के तहत महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे श्री एम सी चौहान द्वारा उत्‍कृष्‍ट कार्य करने वाले मण्‍डलों,विभागों,कारखानों,स्‍टेशनों,अधिकारियों को पुरस्‍कार प्रदान किये गये।

इस अवसर पर महाप्रबंधक श्री एम सी चौहान ने उपस्थित सभी वरिष्ठ अधिकारीगण, महिला संगठन की सदस्यागण, यूनियन एवं एसोशिएशन के पदाधिकारीगण, मीडिया से आये हुए प्रतिनिधिजन एवं रेल सप्ताह के उपलक्ष्य में पुरस्कृत किये गये उत्तर मध्य रेलवे के समस्त अधिकारी तथा कर्मचारी को संबोधित करते हुये 62वें रेल सप्ताह समारोह के शुभ अवसर पर सभी का हार्दिक अभिनन्दन किया।

उन्होने कहा कि जैसा कि आप सभी जानते हैं कि गत वर्षों में हमारे देश ने अपने अथक् प्रयासों से कई क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति की है। देश के चहुंमुखी विकास में हम सभी का कर्तव्य है कि विकास के हर क्षेत्र में हम अपना सक्रिय योगदान दें। यह सर्वविदित है कि देश के विकास में भारतीय रेल का प्रमुख योगदान रहा है। भारतीय रेल अपने विकास की गरिमामयी यात्रा के 164 वर्ष पूर्ण कर चुकी है। भारतीय रेल निरन्तर नई उपलब्धियों को प्राप्त करती हुई प्रगति के पथ पर आगे बढ़ रही है। रेल कर्मियों द्वारा विषम परिस्थितियों में भी प्रशंसनीय कार्य करते हुए गत वर्ष आय में उल्लेखनीय वृद्धि की गई है। भारतीय रेल ने प्रभावी परिवहन उपायों को अपनाते हुए अनेक नवीन परियोजनाओं को पूरा कर यात्री तथा माल यातायात में प्रगति करने के साथ ही रेल राजस्व में उल्लेखनीय वृद्धि की है। आंतरिक तौर पर भारतीय रेल ने धन जुटाने और फंड बैलेंस में पर्याप्त वृद्धि की है। माननीय रेलमंत्री जी ने यह विश्वास व्यक्त किया है कि यह सब उपलब्धिया प्राप्त करने का श्रेय रेलकर्मियों को ही है, जिनकी कार्यनिष्ठा और प्रतिबद्धता के कारण ही यह सब संभव हुआ।

आज इस अवसर पर हमारे 07 अधिकारियों/कर्मचारियों को जिन्हें रेलवे बोर्ड स्तर पर 23.04.2017 को रायपुर में सम्मानित किया जायेगा और हमारे 156 सहयोगी साथी जिन्हें उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरस्कृत किया जा रहा है, को मैं इस अवसर पर हार्दिक बधाई देता हॅूं। जो अधिकारी एवं कर्मचारी इस वर्ष पुरस्कृत नहीं हो सके, उन्हें भी यह बताना चाहूंगा कि हमारी सभी उपलब्धियों में उनका भी महत्वपूर्ण योगदान है।

उपलब्धियों की चर्चा करते हुये श्री चौहान ने बताया कि सातवें वेतन आयोग के क्रियान्वयन के बावजूद भी हमारा आपरेटिंग रेशियो इस वर्ष 70.29 प्रतिशत रहा है, जो कि रेलवे बोर्ड द्वारा दिये गये लक्ष्य 72.05 प्रतिशत से बेहतर है। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2016-2017 में इस रेलवे द्वारा कुल आरंभिक आय से3438.70 करोड का राजस्व अर्जन किया गया है, जो पिछले वर्ष की इस अवधि में प्राप्त की गई कुल आय से 3.8 प्रतिशत अधिक है। वर्ष 2016-17 में स्कै्रप सेल के द्वारा 156.94 करोड़ रुपया अर्जित किया गया, जोकि रेलवे बोर्ड दिये गये लक्ष्य 150 करोड से 4.63 प्रतिशत अधिक है। समय पालन प्रतिशत वर्ष 2016-17 में 46.7 प्रतिशत रहा, जो पिछले वर्ष की तुलना में 11.19 प्रतिशत अधिक है।

यात्रियों की सुविधाओं के लिए किये गये कार्यों की चर्चा करते हुये वर्तमान में आगराकैंट स्टेशन पर एक्जीक्यूटिव लाउंज (Executive Lounge) उपलब्ध है तथा ए-1 एवं ए श्रेणी के स्टेशनों झांसी, अलीगढ़, इटावा, फतेहपुर, टूण्डला, फफूंद, बांदा, ललितपुर, चित्रकूट, मुरैना, महोबा एवं उरई में स्थान चिंिन्ह्त करने का कार्य प्रक्रियाधीन है एवं इलाहाबाद तथा कानपुर के भूमि का रेट एवं मानचित्र आईआरसीटीसी को सौंप दिया दिया गया है।

उत्तर मध्य रेलवे में अभी तक कुल 34 स्वचालित सीढ़िया (Escalator)स्वीकृत हैं, जिनमें से 14 लगायी जा चुकी हैं तथा शेष 20 को लगाने के कार्य की प्रक्रिया चल रही है। 11 स्टेशनों पर 30 लिफ्ट लगने हैं, जिनमें 01 लिफ्ट कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर लगाया जा चुका है।

उत्तर मध्य रेलवे में स्वच्छ भारत अभियान पूर्ण जोश एवं उत्साह से मनाया जा रहा है। इस अभियान के तहत रेल प्रशासन एवं यात्रियों में जागरूकता के साथ-साथ विभिन्न स्तरों पर सहभागिता सुनिश्चित की जा रही है।

ऊर्जा संरक्षण हेतु 341 समपार फाटकों, मुख्यालय के कार्यालय भवन, मण्डल कार्यालय भवन, इलाहाबाद एवं सेंट्रल हास्पिटल, इलाहाबाद में सोलर प्लांट लगाये गये हैं।रेलगांव कालोनी सूबेदारगंज में 200 सोलर स्ट्रीटलाइट लगाई गई है। 47 बी तथा ए श्रेणी के स्टेशनों पर 18/20 LEDलाइटें ऊर्जा संरक्षण हेतु लगायी गई हैं। वर्ष 2016-17 में टीकमगढ़-मवई (12 किमी. सेक्सन) जोकि ललितपुर-खजुराहो सेक्शन का भाग है, उसे यात्री एवं माल ढुलाई यातायात के लिए अक्टूबर 2016 में माननीय रेलमंत्री की उपस्थिति में चालू किया गया। इटावा-मैनपुरी सेक्शन को यात्री यातायात के लिए दिसम्बर 2016 में चालू किया गया है।

उत्तर मध्य रेलवे के कर्मचारी कल्याण के कार्यों की चर्चा करते हुये श्री चौहान ने बताया कि वर्ष 2016-17 के दौरान 5237 कर्मचारियों को चयन, उपयुक्तता एवं व्यावसायिक परीक्षण के तहत पदोन्नत किया गया है। सांस्कृतिक कोटा के तहत 01 अभ्यर्थी, खेलकूद कोटा के अंतर्गत 12 अभ्यर्थियों और स्काउट एवं गाइड कोटा के अधीन 08 अभ्यर्थियों का पैनल जारी किया गया। वित्तीय वर्ष के दौरान समापन भुगतान संबंधी 3928 मामलों का निस्तारण किया गया। अनुकम्पा आधार पर नियुक्ति संबंधी 312 मामलों को अंतिम रूप दिया गया। दिनांक 15.12.2016 को सम्पन्न पेंशन अदालत में 507 मामलों का निस्तारण किया गया। वित्तीय वर्ष के दौरान ग्रुप ‘‘सी‘‘ के 2181 अभ्यर्थियों तथा ‘‘डी‘‘ के 172 अभ्यर्थियों का पैनल घोषित किया गया तथा मंडलों/कारखानों को आवश्यक कार्यवाही हेतु प्रेषित किया गया। वित्तीय वर्ष के दौरान एक्सग्रेसिया संबंधित 88 प्रकरणों में भुगतान किया गया। वर्ष के दौरान 390 कर्मचारियों को LARGESSस्कीम के तहत स्वैच्छिक सेवा निवृत्ती प्रदान की गयी। रेलवे बोर्ड के अनुदेशों के पालन में उत्तर मध्य रेलवे में इलाहाबाद, मिर्जापुर तथा ग्वालियर में ‘‘स्किल डेवेलपमेन्ट सेन्ट्रर‘‘ स्थापित करने के लिए संबंधित विभागों के बीच समझौता हो चुका है। इसके अतिरिक्त समसाबाद तथा महोबा में भी उक्त कार्य प्रगति पर है।

रेलवे बोर्ड के अनुदेशों के अनुपालन में उत्तर मध्य रेलवे में मार्च, 2017 से सभी सेवानिवृत्त कर्मचारियों को ‘‘प्लास्टिक पहचान पत्र‘‘ दिया जाना प्रारम्भ किया जा चुका है। कर्मचारियों की शिकायत संबंधी “NIVARAN”तथा “CPGRAMS”पोर्टल के माध्यम से कुल 1277 शिकायतों का निपटान किया गया।

हम अपनी उपलब्धियों पर संतुष्ट हो सकते हैं परन्तु अभी आगे बहुत सी चुनौतियों का सामना करना है।हमें इस विश्वास को कायम रखना है तभी हम अपने ग्राहकों को विश्व स्तर की सेवाएं उपलब्ध करा सकते हैं। हम सभी यह संकल्प लें कि इस सोच को वास्तविकता में बदल देंगे। भारतीय रेल का सौभाग्य है कि इसके पास योग्य और जिम्मदार रेलकर्मी हैं। हम सभी भारतीय रेल को सशक्त, संवेदनशील और सुरक्षित प्रणाली बनाने के लिए एक टीम के रूप में काम करें। हमें इस बात पर भी विशेष ध्यान देना है कि हमारी नीतियां और हमारे कार्य आम आदमी के हित के लिए हों, क्योंकि हमारे ग्राहकों की संतुष्टि पर ही हमारा अस्तित्व निर्भर है।

इस अवसर पर इलाहाबाद मण्‍डल को सर्वोत्‍तम मण्‍डल लेखा अधिकारी कार्यालय शील्‍ड, वाणिज्‍य विभाग शील्‍ड, स्‍टेशन साफ-सफाई शील्‍ड, ब्रिज शील्‍ड, सामान्‍य सेवा शील्‍ड साथ में ऊर्जा दक्षता शील्‍ड, ट्रैक्‍शन डिस्‍ट्रीब्‍यूशन शील्‍ड, सवारी माल डिब्‍बा दक्षता शील्‍ड, समय पालन में सुधार शील्‍ड, यात्री सुरक्षा शील्‍ड, सिगनल एवं दूर संचार शील्‍ड, समग्र दक्षता शील्‍ड, समग्र सुधार शील्‍ड मंडल सहित अन्‍य शील्‍डे मिलीं। आगरा मण्‍डल कोयात्री सुविधा एवं खानपान में सर्वोत्‍तम स्‍टेशन विशेष पुरस्‍कार, कार्य बागवानी शील्‍ड, रेल पथ (ट्रैक) शील्‍ड, समग्र दक्षता शील्‍ड, रनिंग रूम एवं ड्राइवर लॉबी शील्‍ड, ओ एण्‍ड एफ दक्षता शील्‍ड, अर्न्‍तमंडलीय चिकित्‍सा शील्‍ड, संरक्षा शील्‍ड, स्‍क्रैप संग्रहण शील्‍ड, खेलकूद ट्राफी, सर्वोत्‍तम मण्‍डल शील्‍ड, समग्र दक्षता सहित अन्‍य शील्‍ड मिलीं। झांसी मण्‍डल को ब्रिज शील्‍ड, इलैक्ट्रिक लोको शेड शील्‍ड, कारखाना दक्षता शील्‍ड, परिचालन विभागदक्षता शील्‍ड, समय पालन में सुधार शील्‍ड, स्‍थापना कार्य में सर्वोत्‍तम मण्‍डल, सुरक्षा शील्‍ड, राजभाषा शील्‍ड सहित अन्‍य शील्‍डे मिलीं।

सर्वोत्‍तम स्‍टेशन प्रमाण पत्र ग्‍वालियर स्‍टेशन को तथा स्‍टेशन साफ-सफाई शील्‍ड कानपुर सेन्‍ट्रल स्‍टेशन को मिली। इस दौरान उत्‍तर मध्‍य रेलवे के कुल 156 अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी रेल सेवा में महत्‍वपूर्ण योगदान के लिए उत्‍कृष्‍ट सेवा प्रशस्‍ती पत्र एवं नकद पुरस्‍कार प्रदान किया गया।इस अवसर पर उत्तर मध्य रेलवे के प्रमुख विभागाध्यक्ष, तीनो मण्डलो के मण्डल रेल प्रबंधक एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।





  Admin Login | Site Map | Contact Us | RTI | Disclaimer | Terms & Conditions | Privacy Policy Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2016  All Rights Reserved.

This is the Portal of Indian Railways, developed with an objective to enable a single window access to information and services being provided by the various Indian Railways entities. The content in this Portal is the result of a collaborative effort of various Indian Railways Entities and Departments Maintained by CRIS, Ministry of Railways, Government of India.