Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
Search :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in Hindi
National Emblem of India

About Us

IR Personnel

News & Recruitment

Tenders & Notices

Vendor Information

Public Services

Contact Us

 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
01-02-2024
उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय में 75 वें गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन

उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय में 75 वें गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन..

    26 जनवरी 2024 को, उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय, प्रयागराज में राष्ट्र का 75वां गणतंत्र दिवस भव्यता, उल्लास, जोश और उत्साह के साथ मनाया गया। कार्यक्रम का प्रारंभ महाप्रबंधक श्री रविन्द्र गोयल द्वारा झंडा फहराने के साथ हुई। इस अवसर पर,  महाप्रबंधक ने रेलवे सुरक्षा बल, भारत स्काउट और गाइड और सेंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड की परेड का निरीक्षण किया। महाप्रबंधक ने उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए 18 रेलवे कर्मियों को सम्मानित भी किया। 75वें गणतंत्र दिवस पर सम्मानित होने वाले रेलवे के अधिकारी एवं कर्मचारियों में श्री प्रवीण नेवालकर, वरिष्ठ खण्ड इंजीनियर/ड्राइंग व डिजाइन, श्री अमित कुमार, अवर अभियंता/वर्क्स/व्रिज/झाँसी, श्री आदित्य सिंह, मंडल यांत्रिक इंजीनियर/के, वै., श्री नितिन सिंह, सहायक कार्मिक अधिकारी, श्री सुधाकर द्विवेदी, यातायात निरीक्षक/कोचिंग,  श्री विशाल कुमार, ट्रैकमैन, श्री राजेन्द्र कुमार, ट्रैकमेंटेनर-III, श्री पवन कुमार, वरिष्ठ गुड्स ट्रेन मैनेजर/झाँसी, श्री अमित चतुर्वेदी, वरिष्ठ सहायक लोको पायलट/ग्वालियर, श्री सुनील कुमार नरवरिया, उप स्टेशन अधीक्षक/वाणिज्य, श्री प्रदीप सिंह, एस.एस.ई./PW/PWL Incharge, श्री धीरेन्द्र कुमार, वरिष्ठ खंड अभियन्ता/सिग्रल, श्री सिद्धनाथ पाटीदार, निरीक्षक, श्री रविन्द्र सिंह, सहायक लोको पायलट, श्री देवीदास पवार, एस.एस.ई, झाँसी कारखाना, श्री धनंजय रहालकर, एस.एस.ई, सिथौली कारखाना, श्री राकेश कुमार, वरिष्ठ टेकनीशियन, श्री प्रशांत सिंह तोमर, एस.एस.टी. ई. प्रोजेक्ट/आगरा कैंट  शामिल थे।

इस अवसर पर श्री रविन्द्र गोयल ने गणतंत्र दिवस के बैनर के साथ तिरंगे गुब्बारे हवा में छोड़े।
समारोह के दौरान,  महाप्रबंधक ने हमारे महान राष्ट्र के 75वें गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर उत्तर मध्य रेलवे के सभी कर्मचारियों और उनके परिवारों को हार्दिक शुभकामनाएं दीं। 75वें गणतंत्र दिवस पर महाप्रबंधक का संदेश यू-ट्यूब लिंक www.youtube.com/c/CPRONCR का उपयोग करते हुए ऑनलाइन भी उपलब्ध कराया गया। 
इस अवसर रेल सुरक्षा बल श्वान दस्ते का प्रदर्शन और महिला रेल सुरक्षा बल कर्मियों द्वारा मार्शल आर्ट का प्रदर्शन आकर्षण का केंद्र रहे। इसके बाद रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ। इसमें देश भक्ति गीत “मेरे देश की धरती सोना उगले-उगले हीरे मोती”  श्री रंजीत गुप्ता, श्री संदीप कुमार, श्री रामाशंकर यादव द्वारा,  सुश्री मंजू जोशी के निर्देशन में स्काउट एवं गाइड द्वारा तथा सुश्री मिताली वर्मा तथा सुश्री अपराजिता पटेल के निर्देशन में टेंडरफीट के बच्चों द्वारा मनमोहक समूह नृत्य प्रस्तुत किए गए।
इन रंगारंग कार्यक्रमों ने उपस्थित जनसमूह को देश भक्ति की भावना से भरते हुए सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।
75वें गणतंत्र दिवस समारोह के शुभ अवसर पर उत्तर मध्य रेलवे के सभी कर्मचारियों हेतु महाप्रबंधक का संदेश इस प्रकार है।
अपने गौरवशाली राष्ट्र के 75वें गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर पूरे उत्त र मध्य रेलवे परिवार को मेरी हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। इस पावन अवसर पर हम अपने उन महान पूर्वजों एवं देशभक्तों का कृतज्ञतापूर्वक स्मरण करते हैं, जिन्हों्ने अपने अप्रतिम त्याग एवं बलिदान से इस विशाल लोकतांत्रिक गणतंत्र की आधारशिला रखी। यह वह सुअवसर भी है जब हम अपने कार्यनिष्पादन और लक्ष्यों की समीक्षा करते हैं, ताकि अपने लक्ष्यों और उपलब्धियों के पथ पर निरंतर आगे बढ़ते हुए हम अपने संविधान निर्माताओं के सपनों को साकार कर सकें। 
उत्तधर मध्य रेलवे 2003 में अपने गठन से बीस वर्ष पूरा कर चुकी है। अपने गठन के समय से ही हमारी रेलवे ने भारतीय रेल के महत्वपूर्ण अंग के रूप में अहम योगदान देते हुए अपना अग्रणी स्थान बनाया है। उत्तेर मध्य रेलवे,  देश के उत्त री भाग को दक्षिणी, पूर्वी और पश्चिमी भाग से जोड़कर राष्ट्र की प्रमुख परिवहन प्रणाली की भूमिका निभा रही है। हालाँकि, उत्तकर मध्य रेलवे मुख्यतः यात्री यातायात वाला पासिंग थ्रू ज़ोन है, फिर भी हम अपने मालभाड़ा आय में वृद्धि के लिए ठोस प्रयास कर रहे हैं। वर्तमान वित्तन वर्ष की प्रारंभिक तीन तिमाहियों के दौरान हमने 679 मालगाड़ी औसत प्रतिदिन के थ्रूपुट की उपलब्धि हासिल की है,  जो पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में हासिल प्रगकति से 11.7% अधिक है। वर्तमान वित्ता वर्ष 2023-24 के दौरान हमारे बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट के सतत प्रयासों के परिणामस्वरूप हमें नए यातायात प्राप्त हुए हैं और इस क्रम में 177 रेकों की लोडिंग हासिल हुई है। यात्रियों से होने वाले मूल अर्जन और अन्यक कोचिंग अर्जन में क्रमश: 12.90% और 32% की बढ़ोत्तकरी हुई है। टिकट जाँच से होने वाले अर्जन में हमने इस वर्ष के लिए निर्धारित लक्ष्यर से 14% से अधिक अर्जन की उपलब्धि हासिल की है। दिसंबर, 2023 तक हमने स्क्रै्प की बिक्री से 188.11 करोड़ रुपए का अर्जन किया है। इस सिलसिले को बरकरार रखते हुए हम उत्तपर मध्यर रेलवे को एक स्क्रैपप फ्री जोन बनाने के लक्ष्यि की ओर निरंतर अग्रसर हैं। 
ग्राहकों की संतुष्टि हमारी सफलता का मूल मंत्र है। ग्राहकों को उत्त‍म सुविधाएं प्रदान करने की दृष्टि से हम अपनी सेवाओं को लगातार अपग्रेड कर रहे हैं। अपने देशवासियों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए हम अपने जोन के 54 स्टेअशनों का पुनर्विकास कर रहे हैं, जिनमें से 46 स्टे शनों को अमृत स्टेटशन के रूप में विकसित किया जा रहा है। हमने अब तक विभिन्नय महत्वनपूर्ण स्टे शनों पर 56 स्वेचालित सीढ़ि‍याँ और 33 लिफ्ट लगाई हैं। इस वित्तम वर्ष के अंत तक 5 और स्वयचालित सीढ़ि‍याँ तथा 4 लिफ्ट लगाई जाएंगी। हम 'वोकल फार लोकल' को बढ़ावा देने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं और अपने स्टेटशनों पर रेलयात्रियों के लिए स्था'नीय उत्पाादों की उपलब्धएता सुनिश्चित कर रहे हैं। इस हेतु 62 स्टे शनों पर 'एक स्टेिशन एक उत्पााद' स्टॉथल खोले गए हैं। इस वित्तु वर्ष के दौरान 11 स्टेहशनों पर नए ऊपरी पैदल पुलों का निर्माण किया गया, 5 स्टेसशनों के प्लेकटफार्मों की ऊॅंचाई बढ़ाई गई तथा लंबी गाड़ि‍यों के रुकने के लिए 2 स्टे शनों के प्लेसटफार्मों की लंबाई बढ़ाई गई। अत्य धिक भीड़ वाली अवाधि के दौरान यात्रियों की सुविधा के लिए उत्तकर मध्यल  रेलवे में इस वर्ष लगभग 745 फेरे स्पेवशल गा‍ड़ि‍याँ संचालित की गईं। उत्तकर मध्य  रेलवे के यात्रियों की सुविधा के लिए इस वर्ष कई वंदे भारत और अमृत भारत ट्रेनों सहित 11 नई गा‍ड़ि‍याँ भी चलाई गईं। 
अपने दैनिक कामकाज में संरक्षा, सुरक्षा एवं पारदर्शिता के स्तरर को बढ़ाने के लिए हम आधुनिक तकनीक और पद्धति अपना रहे हैं। चलती गाड़ि‍यों में बियरिंग की खराबी तथा ब्रेक बाइंडिंग का पता लगाने के लिए हमने 24 स्था नों पर हॉट बाक्स् डिटेक्टषर लगाए हैं। उत्तबर मध्यु रेलवे के 518 कोचों में फायर एंड स्मो क डिटेक्शान सिस्टरम लगाए गए हैं। इसके अतिरिक्तत सभी 55 पावर कारों में स्मोंक डिटेक्शिन एंड सप्रेशन सिस्टिम का प्रावधान किया गया है। 
हमने अनुरक्षण इनपुट में भी वृद्धि की है। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष टीआरआर/पी में 19%, टीएसआर/पी में 125%, सीटीआर में 45% तथा टीएफआर में 72% की बढ़ोत्ततरी हुई है। वर्तमान वित्तक वर्ष के दौरान 40 पुलों का नवीनीकरण किया गया है। संचार व्यषवस्थाा को और अधिक सुदृढ़ बनाने की दृष्टि से वित्तौ वर्ष 2023-24 के दौरान उत्तवर मध्यर रेलवे में 129 किलोमीटर ओएफसी एवं क्वा ड केबल चालू की गई तथा 134 स्टे2शनों पर VoIP आधारित ट्रेन कम्यूैनिकेशन स्थाथपित किया गया। संरक्षा के विभिन्नण पहलुओं के संबंध में जागरूकता उत्पVन्नि करने के लिए हमारे संरक्षा विभाग द्वारा 16 संरक्षा अभियान चलाए गए। 
समपार फाटकों पर होने वाली दुर्घटनाएं रेलवे के लिए हमेशा से ही चिंता का विषय रही हैं। इस वर्ष हमने 28 समपार फाटकों को बंद कर दिया है तथा 17 आरओबी एवं 38 आरयूबी का निर्माण किया है। समपारों पर संरक्षा को और सुदृढ़ बनाने के लिए 11 संवेदनशील समापारों पर बिजली चालित लिफ्टिंग बैरियर एवं स्लाोइडिंग बूम लगाए गए हैं। 
उत्तटर मध्य  रेलवे, भारतीय रेल के व्य्स्त तम रेल मार्गों पर अपनी सेवाएं प्रदान करती है। यहाँ और अधिक गा‍ड़ि‍यों की आवश्येकता निरंतर तेजी के साथ बढ़ रही है। इस आवश्यिकता की पूर्ति के लिए नये इन्फ्रास्ट्रक्चर के निर्माण और मौजूदा इन्फ्रास्ट्रक्चरों को सुदृढ़ बनाकर अतिरिक्त  क्षमताओं का सृजन किया जा रहा है। इस वर्ष हमने 41.94 किलोमीटर रूट पर स्वपचालित सिगनल प्रणाली तथा 14 स्टेटशनों पर इलेक्ट्रा निक इंटरलॉकिंग चालू की है। वित्तर वर्ष 2023-24 के दौरान 48.23 किलोमीटर रेलमार्ग का गेज परिवर्तन किया गया और 80 किलोमीटर से अधिक तीसरी और चौथी लाइन को चालू किया गया। हमने वर्तमान वर्ष में उत्तऔर मध्यम रेलवे के 11 सेक्श0नों में गा‍ड़ि‍यों की गति में वृद्धि के साथ ही 6 परमानेंट स्पीड रिस्ट्रिक्शन पर गति बढ़ाई गई है या इसे समाप्त2 कर दिया गया है। 
हमारे कारखाने भारतीय रेल में अपनी अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं। वैगन मरम्मनत कारखाना, झाँसी द्वारा दिसंबर, 2023 के दौरान अब तक के सर्वाधिक 870 वाहन यूनिटों के मासिक आउटटर्न की उपलब्धि हासिल की गई है, जो निर्धारित लक्ष्य् से लगभग 13% अधिक है। यात्री कोचों के पीओएच और पुनर्निर्माण हेतु चालू किए गए नए रेल कोच नवीनीकरण कारखाना, झाँसी द्वारा सितंबर, 2023 में पहले कोच का पुनर्निर्माण किया गया। 
पर्यावरण अनुकूल परिचालन तथा भारतीय रेल के लिए 2030 तक नेट जीरो कार्बन एमिशन के लक्ष्यर के प्रति हमारी प्रतिबद्धता हमारे दिन-प्रतिदिन के कामकाज में परिलक्षित हो रही है। उत्तयर मध्यग रेलवे ने विभिन्नर ऊर्जा दक्ष तकनीकी उपायों को अपनाकर अनुकरणीय उदाहरण सामने रखा है, जिसके फलस्वनरूप हमारी रेलवे को राष्ट्री य ऊर्जा संरक्षण पुरस्काकर, 2023 का प्रथम पुरस्का3र प्राप्ता हुआ है। उत्तनर मध्ये रेलवे के सौर ऊर्जा संयंत्रों द्वारा इस वर्ष अब तक का सर्वाधिक 9.21 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पाई‍दन किया गया और 3.83 करोड़ रुपए के राजस्वम की बचत की गई, साथ ही 7,740 मीट्रिक टन कार्बन एमिशन को भी रोका गया। इस उत्कृुष्टे पहल को और अधिक मजबूती प्रदान करते हुए उत्तकर मध्य  रेलवे के 32 एलएचबी रेकों को हेड ऑन जेनरेशन में बदला गया है, जिससे वर्तमान वित्ति वर्ष में लगभग 30 करोड़ रुपए मूल्य2 के डीजल की बचत हुई है। इसके अतिरिक्त  इस वित्ता वर्ष में हमने लगभग 8.59 लाख पौधारोपण भी किया है।
पिछले कुछ वर्षों में सूचना प्रौद्योगिकी पारदर्शिता का अति महत्वेपूर्ण माध्यचम बन गई है। इससे न केवल हमारे उपभोक्ता  सशक्तम हुए हैं, बल्कि हमारे कार्यालयों में सुसंगत एवं सुव्योवस्थित  कार्यप्रणाली सुनिश्चित हुई है। हमने माँग तैयार करने से लेकर उसे अंतिम रूप देने तक की पूरी आपूर्ति प्रक्रिया को डिजिटल बना दिया है। जोन में कार्यालयी कार्य संस्कृ ति को और अधिक स्वनच्छ  एवं पारदर्शी बनाने के लिए हमारे सतर्कता विभाग द्वारा प्रणालीगत सुधार के 12 निर्देश जारी किए गए हैं। सतर्कता विभाग की सक्रियता से जुलाई से दिसंबर, 2023 तक 2 करोड़ रुपए से अधिक की बचत हुई। 
यात्रियों की सुरक्षा हमारे लिए अत्यं0त संवेदनशील मुद्दा है और हम इसके प्रति पूरी तरह संजीदा हैं। हमारे रेल सुरक्षा बल के जवानों द्वारा अपने परिजनों से बिछड़े 824 बच्चों् को सुरक्षित बचाया गया। एलार्म चेन पुलिंग की रोकथाम के लिए 6,728 दोषियों को पकड़ा गया तथा उनसे 33 लाख रुपए से अधिक की जुर्माना राशि वसूल की गई। इसके अलावा अनधिकृत वेंडिंग में लिप्तस 9,508 वेंडरों तथा प्रतिबंधित मादक पदार्थों की बिक्री करने वाले 62 लोगों को पकड़ा गया। रेल मदद पोर्टल पर यात्रियों की सुरक्षा संबंधी मामलों की लगभग 49000 कॉल प्राप्ति हुईं, जिनका हमारे सजग और सतर्क कर्मचारियों द्वारा 0.57 मिनट के औसत निपटान समय में निराकरण किया गया।
हमारे खिलाड़ी खेलकूद की विभिन्न् प्रतियोगिताओं में अपने उत्कृिष्ट  प्रदर्शन से हमारी रेलवे का गौरव बढ़ाते रहे हैं। सीनियर नेशनल वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में नया राष्ट्री य रिकार्ड बनाकर स्वरर्ण पदक जीतने वाली सुश्री अरोकिया अलीश को मैं विशेष रूप से बधाई देता हूँ। मैं अंतर रेलवे चैंपियनशिप जीतने के लिए अपनी महिला वेटलिफ्टिंग एवं पुरुष जिमनास्टिक्सस टीम को हार्दिक बधाई देता हूँ। मैं ग्वाेलियर में अंतर रेलवे हॉकी लीग, प्रयागराज में जिमनास्टिक और आगरा में कुश्तीर प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिए उत्तरर मध्यल रेलवे स्पोमर्ट्स एसोशिएशन को भी हार्दिक बधाई देता हूँ।
अपने समर्पित कर्मचारियों के हितों का समुचित ध्यासन रखना हमारी प्राथमिकता है। इस क्रम मंो कर्मचारियों में कार्यसंतुष्टि की भावना बढ़ाने के लिए हम उनको दी जाने वाली सुविधाओं को बेहतर बनाने का प्रयास कर रहे हैं। कार्य स्थपलों, स्कू लों एवं विभिन्न् रेलवे चिकित्सा लयों में 214 स्वा स्य्नि  जांच शिविर आयोजित किए गए। मंडल चिकित्सा लय, आगरा में फिजियोथेरेपी यूनिट खोली गई। कर्मचारियों की शिकायतों का तत्पिरता के साथ कारगर निस्ताएरण करने के लिए जोन के सभी मंडलों एवं इकाइयों में सिंगल विंडो सेल स्थातपि‍त किया गया है। हमारे निराकरण सेल द्वारा इस वर्ष 1054 शिकायतों का निपटान किया गया। उत्त‍र मध्यक रेलवे में शांति और सौहार्दपूर्ण औद्योगिक संबंध बनाए रखने के लिए मैं अपनी मान्यिता प्राप्तत यूनियनों, संघों एवं संगठनों को हार्दिक बधाई देता हूँ। राजभाषा के संवैधानिक दायित्वोंो के निर्वहन की दिशा में हमारे राजभाषा विभाग द्वारा उत्कृदष्टई कार्य किए जा रहे हैं। हाल ही में संसदीय राजभाषा समिति द्वारा मुख्याोलय एवं मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय, प्रयागराज के निरीक्षण के दौरान हमारी रेलवे में राजभाषा प्रगति के कार्यों की सराहना की गई।
अपनी विभिन्नभ कल्यािणकारी योजनाओं के माध्योम से जरूरतमंद रेल कर्मियों और उनके परिवारों की सहायता में अपना सराहनीय योगदान करने के लिए मैं उत्त र मध्य  रेलवे महिला कल्यािण संगठन को अपनी हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ। इस संगठन ने पौधारोपण कार्य तथा विभिन्ना प्रतियोगिताओं आदि का आयोजन कर पर्यावरण जागरुकता के क्षेत्र में भी अपना उल्लेंखनीय योगदान दिया है।
हमारे स्का उट एवं गाइड तथा सेंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड कर्मी मेला और अन्ये भीड़-भाड़ वाली अवधि के दौरान यात्रियों को अपनी नि:स्वा र्थ सेवाएं प्रदान कर अपने सामाजिक दायित्वोंो को निभा रहे हैं और स्वाच्छनता एवं पर्यावरण संरक्षण जैसे विभिन्न। सरोकारों में अपना बहुमूल्यय योगदान दे रहे हैं। विंध्यागचल में नवरात्र मेले के दौरान सेंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड द्वारा 1000 से अधिक तीर्थयात्रियों को प्राथमिक चि‍कित्साि सहायता प्रदान की गई। गाइड सुश्री सोनाली विश्वपकर्मा और श्वेथता यादव तथा स्काउट श्री आकाश यादव को राष्ट्रदपति पुरस्काुर प्राप्त् हुआ है। इसके लिए मैं उन्हेंत हार्दिक बधाई देता हूँ।“
इस अवसर उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा, पदाधिकारी एवं अन्य सदस्य, उत्तर मध्य रेलवे के सभी प्रमुख विभागाध्यक्ष, अन्य अधिकारी गण एवं बड़ी संख्या में कर्मचारी एवं उनके परिवार के सद्स्य उपस्थित रहे ।


(Amit Malviya)
PRO




  Admin Login | Site Map | Contact Us | RTI | Disclaimer | Terms & Conditions | Privacy Policy Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2016  All Rights Reserved.

This is the Portal of Indian Railways, developed with an objective to enable a single window access to information and services being provided by the various Indian Railways entities. The content in this Portal is the result of a collaborative effort of various Indian Railways Entities and Departments Maintained by CRIS, Ministry of Railways, Government of India.