Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
खोज :
Find us on Facebook   Find us on Twitter Find us on Youtube View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

भारतीय रेलवे कार्मिक

समाचार एवं भर्ती

निविदाओं और अधिसूचनाएं

प्रदायक सूचना

जनता सेवा

हमसे संपर्क करें

सिटीज़न चार्टर
Restriction on second class unreserved ticket holders.
संगठन संरचना
Station Categories of NC Railway
सूचना अधिकार अधिनियम की धारा ४(१)ब के अन्तर्गत सूचनांएँ
Facilities provided for Divyangjan at Railway Stations
Expression of Interest (EOI)
RCT (walk-in-interview)
Mandate form for Claim Cases.
Catering
ई-टिकट व आई टिकट
जन शिकायत निवारण संगठन
Rationalization of Rates for Parcel Traffic
पूछताछ कार्यालय
यात्री आरक्षण प्रणाली
आरक्षण नियम
रिफन्ड नियम
स्‍टेशनों पर जन सुविधाएं
रियायत नियम
नियम व फार्म
संगठन संरचना
कोचिंग रिफन्ड की स्थिति
उपलब्धियॉ
संपर्क करे


 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS
कैरेज बुकिंग व टूरीस्ट कार

   कोच/पर्यटन यान की बुकिंग

i)कोच की बुकिंग के लिए स्‍टेशन प्रबंधक/स्‍टेशन मास्‍टर के माध्‍यम से मुख्‍य यात्री एवं परिवहन प्रबंधक,उत्‍तर मध्‍य रेलवे,महाप्रबंधक कार्यालय,प्रथम तल,चंबल परिसर,सूबेदारगंज,इलाहाबाद को आवेदन करना होगा,जिसमें गंतव्‍य का ब्‍यौरा,रूट का विवरण,रूट में जहाँ-जहाँ रुकना है तथा उस गाड़ी का नाम जिसमें कोच,सैलून अथवा पर्यटन यान को जोड़ा जाना है,को यात्रा शुरू होने से तीस दिन पहले अथवा अधिकतम 6 माह पहले देना होगा। यदि कोई पार्टी अल्‍प सूचना में अर्थात 30 दिन से कम समय की सूचना देते हुए विशिष्‍ट कोच,सैलून,पर्यटन यान की मांग करती है,तब इसके लिए मुख्‍य परिचालन प्रबंधक से अनुमति प्राप्‍त करनी होगी। कोचों की उपलब्‍धता,मार्ग तथा अन्‍य परिचालन व्‍यवस्‍थाओं को ध्‍यान में रखते हुए विशेष कोच/सैलून/पर्यटन यान तथा कार्यक्रम को मंजूरी प्रदान करना पूर्णतया रेल प्रशासन के विवेक पर निर्भर करता है।

रेल प्रशासन आरक्षित स्‍थान की गारंटी नहीं देता है :

i)यदि रेल प्रशासन कोचिंग स्‍टॉक की कमी अथवा अन्‍य किसी कारण से,जो भी हो,विशेष कोच नहीं लगा पाता है,तब जमा शुल्‍क की राशि की वापसी मुख्‍य वाणिज्‍य प्रबंधक/धन वापसी,उत्‍तर मध्‍य रेलवे,द्वितीय तल,चंबल परिसर,सूबेदारगंज,इलाहाबाद को आवेदन करके प्राप्‍त की जा सकती है। इसके साथ मूल जमा राशि रसीद सरेंडर करनी होगी।

ii)मुख्‍य परिचालन प्रबंधक के कार्यालय में आवेदन पत्र प्राप्‍त होने की तारीख से अग्रिम सूचना के दिनों की गणना की जाएगी और आवेदन पत्रों पर उनके प्राप्‍त होने के क्रम के आधार पर विचार किया जाएगा।

iii)आवेदन पत्र में संपूर्ण यात्रा वृतांत,गाड़ी,तिथि,विभिन्‍न स्‍टेशनों पर आगमन/प्रस्‍थान का समय आवश्‍यक कोच/ पर्यटन यान की श्रेणी,आवेदक द्वारा जमा की गई जमानत राशि की जमा रसीद का पूरा विवरण,इसकी फोटो कापी लगानी होगी आदि का उल्‍लेख करना होगा। आवेदक को अपने आवेदन में यह भी स्‍पष्‍ट रूप से उल्‍लेख करना होगा कि उसने उक्‍त पार्टी के लिए अन्‍य जोन/क्षेत्र के लिए कैरेज/पर्यटन यान का आरक्षण नहीं कराया है। यथासंभव आवेदक को यात्रा प्रारंभ होने के तिथि से कम से कम 15 दिन पहले अंतिम रूप से उत्‍तर दिया जाएगा।

iv)प्रति कोच पंजीकरण प्रभार एवं जमानत राशि के रूप में रुपए 50000/- की राशि ली जाएगी और जहाँ से प्रस्‍तावित यात्रा शुरु की जाएगी उस स्‍टेशन पर इस राशि का भुगतान किया जाएगा। इस राशि का आधा हिस्‍सा जमानत राशि के रूप में रखा जाएगा और बुकिंग के समय दिए जाने वाले किराए में शेष राशि का समायोजन किया जाएगा। अतिरिक्‍त विलंबन आदि के कारण रेलवे को देय किसी राशि के समायोजन के बाद यात्रा की समाप्ति पर प्रारंभिक स्‍टेशन के स्‍टेशन मास्‍टर द्वारा जमा राशि वापस कर दी जाएगी।

v)यात्रा की तिथि से 2 दिन पूर्व अथवा उससे पहले अगर विशेष कोचों/शैलूनों/पर्यटन यानों की बुकिंग को रद्‍द किया जाता है तो पंजीकरण शुल्‍क की 10%की राशि जब्‍त कर ली जाएगी। अगर यात्रा प्रस्‍थान के समय से एक दिन पूर्व (यात्रा तिथि को छोड़कर) या यात्रा प्रारंभ होने के समय से 4 घंटे पूर्व तक बुकिंग निरस्‍त की जाती है तो प्रभार्य किराए का 25%रद्‍दीकरण प्रभार लिया जाएगा और यदि गाड़ी के निर्धारित प्रस्‍थान समय से पहले 4 घंटे के अंदर अथवा उसके बाद यात्रा रद्‍द की जाती है तब प्रभार्य किराए का 50%रद्‍दीकरण प्रभार के रूप में लिया जाएगा।

vi)अगर पार्टी द्वारा अग्रिम राशि जमा की जाती है तो यह माना जाएगा कि पार्टी कोचों के ढुलाई प्रभार (पर्यटन यान सहित) व आवंटन के संबंध में रेलवे द्वारा लागू नियमों व विनियमों के प्रावधानों से सहमत है।

vii)अग्रिम राशि को स्‍वीकार कर लिया जाना किसी विशेष बेस स्‍टेशन की पर्यटन यान अथवा विशेष या विशेष प्रकार की क्षमता वाले कैरेज या गेज को उपलब्‍ध कराने तथा जहॉं पर गेज परिवर्तन शामिल है वहाँ पर उस रेल द्वारा मैचिंग स्‍टॉक के आबंटन की कोई गारंटी नहीं है। कैरेज की उपलब्‍धता (शयनयान सहित) काफी सीमित है। अत: इस संबंध में इस रेलवे द्वारा समय-समय पर कोचों की ढुलाई एवं आबंटन के संबंध में प्रतिबंध लगाया जा सकता है। इसी प्रकार परिचालन सुविधा, ट्रेनों में स्‍थान की उपलब्‍धता या विभिन्‍न हाल्‍टों पर शंटिग सुविधाओं की उपलब्‍धता को ध्‍यान में रखते हुए इस रेलवे पर या अन्‍य क्षेत्रीय रेलवे पर किसी खास गाड़ी द्वारा कोच/पर्यटन यान की ढुलाई के लिए किसी प्रकार का आश्‍वासन नहीं दिया जाता है। इस संबंध में पार्टी को उत्‍तर मध्‍य रेलवे या अन्‍य संबंधित क्षेत्रीय रेलवे के कार्यक्रमों के अनुसार अपना कार्यक्रम बनाना चाहिए।

viii)उत्‍तर मध्‍य रेलवे पर पर्यटन पार्टी को प्राय: उपलब्‍ध कराए जाने वाले विभिन्‍न प्रकार के कोचों की वहन क्षमता और उसका विवरण निम्‍नानुसार है :-

कोचों का प्रकार

वहन क्षमता

 

बड़ी लाइन

छोटी लाइन

·प्रथम श्रेणी वाता.कोच

18 बर्थ

6 एवं 8 बर्थ

·प्रथम श्रेणी कोच

22 से 24 बर्थ

16 से 23 बर्थ

·द्वितीय श्रेणी वाता.कोच

76 से 80 सीटें

64 से 68 सीटें

·शयनयान श्रेणी कोच

72 से 75 बर्थ

48 बर्थ

ix)पर्यटन यानों में सामान्‍यत: स्‍नानगृह,रसोई तथा खाना खाने की जगह की व्‍यवस्‍था होती है।

आरक्षित कैरेज, पर्यटन यान व सैलूनों का प्रभार :

i) किराया

राउंड ट्रिप के आधार पर संबंधित श्रेणी के वयस्‍क के पूरे किराए की प्‍वाइंट से प्‍वाइंट के आधार पर गणना की जाएगी। इसका आशय है कि जहाँ से गाड़ी चलती है उस स्‍थान पर वापसी तक का किराया वसूल किया जाएगा।

किराया कोच की वास्‍तविक श्रेणी के लिए वसूल किया जाएगा

(ए) यदि अतिरिक्‍त यात्री, यात्रा कर रहे हैं तो प्रारंभिक स्‍टेशन पर यात्रा प्रारंभ करते समय अथवा उससे पहले उनकी सूचना दी जाएगी, उनके लिए आनुपातिक आधार पर प्रति अतिरिक्‍त यात्री प्रभार वसूल किया जाएगा। प्रारंभिक स्‍टेशन पर बिना भुगतान के अतिरिक्‍त यात्री ले जाने पर वर्तमान नियमों के अनुसार दंड प्रभारों के साथ आनुपातिक आधार पर प्रभार वसूल किया जाएगा।

2) भुगतान :-

जिस गाड़ी में विशेष कोचों, सैलूनों, पर्यटन यानों को जोड़ा जाना है उसके प्रस्‍थान समय से 48 घंटे पहले पूरा प्रभार जमा कर देना चाहिए अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो यह माना जाएगा कि पार्टी विशेष कोचों/सैलूनों/पर्यटन यानों का उपयोग नहीं करना चाहती है। ऐसे मामले में पंजीकरण प्रभार-सह-जमानत राशि की पूरी जमा राशि जब्‍त कर ली जाएगी।

3) प्रभार के लिए न्‍यूनतम दूरी :

राजधानी/शताब्‍दी एक्‍सप्रेस गाड़ियों सहित अन्‍य गाड़ियों में स्‍पेशल कोचों, सैलूनों, पर्यटनयानों के किराए की गणना के लिए बहिर्यात्रा और वापसी यात्रा के लिए अलग-अलग 500 किमी. का न्‍यूनतम दूरी प्रभार होगा।

पहाड़ी स्‍टेशनों के मामले में न्‍यूनतम 200 किमी. की दूरी के अधीन पूरे सेक्‍शन की प्रभार्य दूरी प्रभार के लिए न्‍यूनतम दूरी होगी।

हालांकि नियमित राजधानी/शताब्‍दी एक्‍सप्रेस गाड़ियों में जोड़े जाने वाले विशेष वातानुकूलित कोचों के लिए प्रभार हेतु न्‍यूनतम दूरी प्रारंभिक स्‍टेशन से अंतिम स्‍टेशन तक होगी।

4. सेवा प्रभार :

केवल मूल किराए पर 20% सेवा प्रभार वसूल किया जाएगा और संरक्षा, सुपरफास्‍ट और आरक्षण अधिभार सहित किसी अन्‍य प्रभार/अधिभार पर नहीं।

iv)खाली ढुलाई प्रभार : खाली ढुलाई प्रभार, खाली ढुलाई की वास्‍तविक दूरी किंतु न्‍यूनतम 200 किमी. पर लगाया जाएगा। इसके अधीन कोचों की धारण क्षमता के लिए फुल टैरिफ रेट (एफटीआर) का 50% खाली ढुलाई प्रभार वसूल किया जाएगा। खाली ढुलाई प्रभार की गणना में संरक्षा प्रभार और आरक्षण प्रभार को शामिल किया जाएगा लेकिन सेवा प्रभार इसमें शामिल नहीं होगा। कोच स्‍टेशन पर उपलब्‍ध है अथवा उसे किसी अन्‍य बेस स्‍टेशन से लाया गया है इस पर ध्‍यान किए बिना उपर्युक्‍त खाली ढुलाई प्रभार वसूल किया जाएगा।

डिटेंशन प्रभार : पार्टी के अनुरोध पर यदि प्रारंभिक स्‍टेशन, मध्‍यवर्ती स्‍टेशन अथवा गंतव्‍य स्‍टेशन पर विशेष कोच/सैलून/पर्यटनयानों को रोका जाता है तब डिटेंशन प्रभार वसूल किया जाएगा। फ्री टाइम न देते हुए ब्राड गेज, मीटर गेज और नैरोगेज सिस्‍टम के लिए एक समान दर अर्थात प्रति कोच प्रति घंटा अथवा घंटे के भाग के लिए रु.900/- (नौ सौ रुपए) की दर से डिटेंशन प्रभार वसूल किया जाएगा, किंतु न्‍यूनतम प्रभार रु. 1500/-(एक हजार पॉंच सौ रुपए) से कम नहीं होगा।

टिप्‍पणी :

(क)जहाँ तक कोचों के संबंध में डिटेंशन प्रभार का संबंध है जब पार्टी के अनुरोध पर किसी स्‍टेशन पर विशेष कोचों को रोका जाता है केवल तभी डिटेंशन प्रभार लगाया जाएगा, स्‍टेशन पर जब गाड़ी परिचालन के संबंध में रोकी जाती है तब यात्रियों की सुविधा को ध्‍यान में रखते हुए गाड़ी में चढ़ने अथवा उतरने हेतु हाल्‍ट का समय +10 मिनट (30 मिनट से अधिक न हो) की अनुमति होगी और उस दशा में यह प्रभार नहीं लगाया जाएगा।

(ख)जब वाहन को उपयोग के लिए उपलब्‍ध कराया जाता है, उस समय से और जब तक यह सूचना प्राप्‍त नहीं हो जाती कि अब इसकी आवश्‍यकता नहीं है, उस समय तक डिटेंशन प्रभार की गणना की जाएगी।

(ग)यदि पार्टी के अनुरोध पर कोच को किसी स्‍टेशन पर रोका जाता है तब उस स्‍टेशन पर उस कोच के रुकने की पूरी अवधि के लिए डिटेंशन प्रभार लगाया जाएगा भले ही डिटेंशन अवधि का कुछ हिस्‍सा नामित गाड़ी में कोच को जोड़ने की प्रतीक्षा में व्‍यतीत हुआ हो।

(घ)जिस गाड़ी से कोच को जाना है उस गाड़ी के निर्धारित प्रस्‍थान समय के बाद यात्रा प्रारंभ करने वाले स्‍टेशन पर कोच को तब तक रोका नहीं जाएगा जब तक कि इसके लिए लिखित अनुरोध न प्राप्‍त हुआ हो।

यात्रा कार्यक्रम में परिवर्तन :

(क)रेल प्रशासन का पूर्व अनुमोदन प्राप्‍त होने पर ही यात्रा कार्यक्रम में परिवर्तन किया जा सकता है और इस प्रकार के परिवर्तन के कारण उत्‍पन्‍न सभी प्रभारों को संबंधित स्‍टेशन पर नकद जमा करना होगा।

(ख)यात्रा प्रारंभ करने की तारीख में परिवर्तन रेलवे की स्‍वीकृति/अस्‍वीकृति पर आधारित होगा और ऐसा परिवर्तन केवल एक बार ही अनुमेय होगा। जब यात्रा प्रारंभ करने की तिथि में परिवर्तन करने की अनुमति मिल जाती है और कैरिज का उपयोग कर लिया जाता है तो जमा राशि जब्‍त नहीं की जाएगी। यात्रा प्रारंभ करने की मूल तिथि के 10 दिन के बाद की तारीख के लिए परिवर्तन पर विचार नहीं किया जाएगा। यदि पर्यटन यान को आरक्षित किया जाता है और यात्रा प्रारम्‍भ करने के पश्‍चात इसे रद्‍द कर दिया जाता है तो वर्तमान नियमानुसार रिफंड दिया जाएगा। यदि जितने समय के लिए डिटेंशन प्रभार का भुगतान किया गया है उससे अधिक समय तक पर्यटक यान को रोका जाता है अथवा यात्रा प्रारंभ होने के बाद यात्रा के मार्ग में परिवर्तन किया जाता है, तो अतिरिक्‍त डिटेंशन या यात्रा के वास्‍तविक मार्ग के कारण उत्‍पन्‍न अतिरिक्‍त प्रभार अथवा यथास्थिति दानों प्रभार उस स्‍टेशन पर वसूल किए जाएंगे जहॉं से यात्रा कर्यक्रम प्रस्‍थान कर रहा हो, और इसके लिए अतिरिक्‍त किराया टिकट रसीद जारी की जाएगी और उसमें इन प्रभारों को वसूल करने का कारण दर्ज किया जाएगा। इस अतिरिक्‍त किराया टिकट जारी करने का विवरण स्‍थान आरक्षण हेतु जारी किए गए मूल टिकट के पीछे भी दर्ज किया जाएगा। यात्रा कार्यक्रम में परिवर्तन किए जाने के कारण वसूल की गई इस राशि की सूचना जिस रेलवे का उक्‍त यान है, उस रेलवे के लेखा कार्यालय को भी अवश्‍य दी जाए ताकि यात्रा कार्यक्रम में किए गए परिवर्तन के कारण यदि कोई डिटेंशन प्रभार देय हो तो वह उसका दावा कर सके और लेखा कार्यालय भी लोडेड ढुलाई प्रभार का प्रभाजन कर सके।

आरक्षित स्‍थान के लिए रेल प्रशासन कोई गारंटी नहीं देता :

(क)रेल प्रशासन आरक्षित स्‍थान उपलब्‍ध कराने का हर संभव प्रयास करता है किंतु आरक्षण की कोई गारंटी नहीं देता है। मांग की गई किसी गाड़ी में सीट, बर्थ, कंपार्टमेंट, कोच अथवा कैरिज उपलब्‍ध न कराने/ न जोड़े जाने के कारण होने वाली असुविधा, हानि या खर्चे की प्रतिपूर्ति के दावे का दायित्‍व रेल प्रशासन का नहीं होगा।

(ख)यदि रेल प्रशासन कोचिंग स्‍टाक की कमी अथवा अन्‍य किसी कारण से विशेष कोचआदि नहीं लगा पाता है तब जमा शुल्‍क की राशि की वापसी मुख्‍य वाणिज्‍य प्रबंधक/धन वापसी, उत्‍तर मध्‍य रेलवे, द्वितीय तल, चंबल परिसर, सूबेदारगंज, इलाहाबाद को आवेदन करके प्राप्‍त की जा सकती है। इसके साथ मूल जमा राशि रसीद सरेंडर करनी होगी।

यात्रा प्रारंभ करने के स्‍टेशन के स्‍टेशन प्रबंधक द्वारा जमानत राशि को स्‍वीकार किया जाएगातथा अतिरिक्‍त डिटेंशन प्रभार सहित सभी देय प्रभारों की कटौती करके इसकी वापसी की जाएगी। स्‍टेशन प्रबंधक द्वारा राशि वापस करते समय स्‍वयं यह सुनिश्‍चित किया जाएगा कि पार्टी के ऊपर अब कोई प्रभार देय नहीं है तथा कोच/सैलून/पर्यटन यान जो लौटाए जा रहे हैं वह यथावत अच्‍छी हालत में हैं।

      स्‍पेशल गाडि़यां :

      विशेष गाड़ियों के लिए आईआरसीए कोचिंग टैरिफ-25, भाग-1, जिल्‍द 1 के नियम 401 की   शर्तों के अधीन प्रभार वसूल किए जाएंगे।

1.पंजीकरण एवं जमानत जमा राशि :

विशेष/कस्‍टमाइज्‍ड गाड़ियों के लिए पंजीकरण प्रभार एवं जमानत जमा राशि :

समय-समय पर निर्धारित जमानत जमा राशि जो वर्तमान में रुपए 50,000/-है बतौर प्रति कोच पंजीकरण प्रभार एवं जमानत जमा राशि के रूप में वसूल की जाएगी और जहाँ से प्रस्‍तावित यात्रा शुरु की जानी है उस स्‍टेशन पर इस राशि को जमा किया जाएगा। इस राशि का आधा हिस्‍सा जमानत जमा राशि के रूप में रखा जाएगा और शेष राशि का समायोजन बुकिंग के समय दिए जाने वाले किराए में किया जाएगा। अतिरिक्‍त डिटेंशन आदि के कारण रेलवे को देय राशि के समायोजन के बाद यात्रा की समाप्ति पर प्रारंभिक स्‍टेशन के स्‍टेशन मास्‍टर द्वारा जमा राशि की वापसी कर दी जाएगी।

न्‍यूनतम दूरी प्रभार:-

राजधानी/शताब्‍दी एक्‍सप्रेस गाड़ियों सहित विशेष गाड़ी के प्रभार हेतु बहिर्यात्रा एवं वापसी यात्रा के लिए अलग-अलग न्‍यूनतम प्रभार्य दूरी 500 किमी होगी। प्रभार पहाड़ी स्‍टेशनों के मामले में पूरे सेक्‍शन की दूरी का प्रभार लिया जाएगा किंतु न्‍यूनतम प्रभार्य दूरी 200 किमी. होगी होगी।

 

गाड़ियों का न्‍यूनतम संयोजन :

राजधानी/शताब्‍दी गाड़ियों सहित विशेष गाड़ियों की बुकिंग के लिए एसएलआर सहित 18 कोचों के न्‍यूनतम संयोजन का किराया लिया जाएगा।

हालांकि पर्वतीय सेक्‍शन के मामले में कोचों की न्‍यूनतम संख्‍या संबंधित सेक्‍शन के लिए अधिकतम अनुमेय लोड की होगी। उपरोक्‍त संयोजन से कम के लिए प्रभार नहीं लिया जाएगा।

1.5किराया :

राउंड ट्रिप के आधार पर संबंधित श्रेणी के वयस्‍क पूरे किराए की प्‍वाइंट से प्‍वाइंट आधार पर गणना की जाएगी। इसका आशय यह है कि जहाँ से गाड़ी चलती है,वापसी का किराया उस स्‍थान तक का लिया जाएगा।

यदि गाड़ी में अतिरिक्‍त यात्री यात्रा कर रहे हैं तो प्रारंभिक स्‍टेशन पर यात्रा प्रारंभ करते समय अथवा उससे पहले उनकी सूचना दी जाएगी तथा उनके लिए आनुपातिक आधार पर प्रति अतिरिक्‍त यात्री प्रभार वसूल किया जाएगा। प्रारंभिक स्‍टेशन पर बिना भुगतान के अतिरिक्‍त यात्री ले जाने पर वर्तमान नियमों के अनुसार जुर्माना प्रभारों के साथ आनुपातिक आधार पर प्रभार वसूल किया जाएगा।

स्‍पेशल गाड़ियों के लिए प्‍वाइंट से प्‍वाइंट प्रभार और डिटेंशन प्रभार की गणना के प्रयोजन से छूट के रूप में यात्रा के मार्ग के स्‍टेशन/स्‍टेशनों पर यात्रियों को गाड़ी में चढ़ने/उतरने,खाने-पीने का सामान लेने आदि के लिए यात्रा के प्रत्‍येक 1000 किमी. या उसके भाग में अधिकतम 02 (दो) विशेषज्ञ नि:शुल्‍क हाल्‍ट की अनुमति दी जाएगी। इस प्रकार का प्रत्‍येक हाल्‍ट अधिकतम 20 मिनट का होगा। विशेष नि:शुल्‍क हाल्‍ट की सुविधा केवल तभी दी जाएगी जब स्‍पेशल गाड़ी के यात्रा कार्यक्रम हेतु आवेदन करते स मय इसका अनुरोध किया गया हो। प्‍वाइंट से प्‍वाइंट प्रभारों और डिटेंशन प्रभारों की गणना में इन विशेष नि:शुल्‍क हाल्‍टों और रेलवे के परिचालन संबंधी हाल्‍टों को शामिल नहीं किया जाएगा।

सेवा प्रभार :

केवल मूल किराए पर 20 (बीस) प्रतिशत सेवा प्रभार वसूल किया जाएगा और संरक्षा,सुपरफास्‍ट तथा आरक्षण अधिभार सहित किसी अन्‍य प्रभार/अधिभार पर नहीं ।

रियायत:

विशेष गाड़ी की बुकिंग के लिए कोई रियायत नहीं दी जाएगी। बच्चों/विद्यार्थियों/वरिष्‍ठ नागरिकों आदि से पूरा प्रभार वसूल किया जाएगा।

 

भुगतान :

गाड़ी के प्रस्‍थान से 48 घंटा पहले पूरा प्रभार जमा करना होगा ऐसा न करने पर यह माना जाएगा कि आयोजक विशेष गाड़ी की सेवा का उपयोग नहीं करना चाहता है। ऐसे मामले में संपूर्ण पंजीकरण प्रभार एवं जमानत राशि जब्‍त कर ली जाएगी।

1.5खाली ढुलाई प्रभार :

प्रत्‍येक कोच के लिए एक समान रूप से 200 किमी. का खाली ढुलाई प्रभार लिया जाएगा चाहे विशेष गाड़ी प्रारंभिक स्‍टेशन पर उपलब्‍ध हो या अन्‍य स्‍टेशन से लाई गई हो अथवा खाली ढुलाई की दूरी कुछ भी क्‍यों न हो। विशेष गाड़ी को चाहे एकल यात्रा या वापसी/वर्तुल यात्रा के लिए बुक किया गया हो, परंतु यह प्रभार केवल एक बार ही लिया जाएगा।

प्रति कोच प्रति किमी खाली ढुलाई प्रभार नीचे दिए अनुसार होगा :

वाता.कोचरु.16.00

आंशिक वाता.कोचरु.14.00

नान एसी कोच रु.12.00

पहचान-पत्र :

बुकिंग करते समय केवल यात्रियों की संख्‍या का उल्‍लेख करने की आवश्‍यकता होगी जबकि यात्राशुरु करने से पहले पार्टी के सदस्‍यों के नाम की सूची स्‍टेशन मास्‍टर को देनी होगी। आयोजक,पार्टी के प्रत्‍येक सदस्‍यों के लिए पहचान पत्र की व्‍यवस्‍था करेगा जो बुकिंग के स्‍टेशन प्रबंधक द्वारा विधिवत मोहरबद्ध और प्रतिहस्‍ताक्षरित कराया जाएगा। यह पहचान पत्र उन्‍हें मध्‍यवर्ती स्‍टेशनों के प्‍लेटफार्म से बाहर आने जाने के लिए प्राधिकृत करेगा।

डिटेंशन प्रभार :

यदि पार्टी द्वारा प्रारंभिक,मध्‍यवर्ती अथवा गंतव्‍य स्‍टेशन पर विशेष गाड़ी/कोचों/सैलूनों/पर्यटनयानों को रोका जाता है तब डिटेंशन प्रभार वसूल किया जाएगा। फ्री टाइम न देते हुए ब्राड गेज,मीटर गेज एवं नैरोगेज सिस्‍टमके लिए एक समान दर अर्थात प्रति कोच प्रति घंटा अथवा घंटे के भाग के लिए रु. 600 (छह सौ रुपए) की दर से डिटेंशन प्रभार वसूल किया जाएगा किेंतु प्रति कोच न्यूनतम प्रभार रु. 1500/- से कम नहीं होगा।

 

 

 

इंजन डिटेंशन प्रभार:

ये प्रभार प्रति घंटा अथवा घंटे के भाग के लिए निम्‍नानुसार लगाए जाएंगे :-

डीजल इंजन

बिजली इंजन

ब्राड गेज

मीटर गेज

ब्राड गेज

मीटर गेज

रु. 604.00

रु. 351.00

रु. 957.00

रु. 415.00

यात्रा कार्यक्रम :

जिस स्‍टेशन से यात्रा प्रारंभ की जानी है वहाँ पर पंजीकरण शुल्‍क सह जमानत जमा राशि जमा करने के बाद आवेदन स्‍टेशन प्रबंधक के माध्‍यम से रेलवे के मुख्‍य यात्री यातायात प्रबंधक को प्रस्‍तुत किया जाए जिसमें गंतव्‍य का विस्‍तृत ब्‍यौरा,मार्ग तथा जिन स्‍टेशनों पर रुकना है उनका भी ब्‍यौरा दिया जाए। यह आवेदन यात्रा शुरू होने से कम से कम 30 दिन पहले तथा 6 माह से अधिक पहले नहीं दिया जाना चाहिए। उस मामले में जहाँ कोई पार्टी विशेष गाड़ी का अनुरोध सीमित अवधि में करती है यानी 30 दिन से कम अवधि के नोटिस पर तब ऐसी स्थिति में निर्दिष्‍ट अनुमति मुख्‍य यात्री यातायात प्रबंधक से प्राप्‍त की जानी चाहिए। कोचों/इंजनों की उपलब्‍धता मार्गों तथा अन्‍य परिचालन गतिविधियों को ध्‍यान में रखते हुए विशेष गाड़ी तथा कार्यक्रम को मंजूर करना पूरी तरह से रेल प्रशासन के विवेक पर निर्भर होगा।

जमानत राशि की वापसी :

यात्रा के प्रारंभिक स्‍टेशन के स्‍टेशन प्रबंधक जमानत राशि जमा करेंगे और उसे वापस करते समय सभी प्रभारों की कटौती करेंगे जिसमें अतिरिक्‍त डिटेंशन प्रभार भी शामिल होगा। स्‍टेशन प्रबंधक व्‍यक्तिगत रूप से सुनिश्‍चित करेंगे कि पार्टी की ओर से कोई भी प्रभार लंबित नहीं है और गाड़ी अच्‍छी स्थिति में रेलवे को सुपुर्द कर दी गई है।

यदि फोल्‍डर और/या टिकट खो गया है अथवा दोनों मूल रूप से जमा नहीं किया गया है तब कोई धनराशि वापस नहीं की जाएगी।

यदि फोल्‍डर को 15 दिन की सामान्‍य समय सीमा के बाद अथवा यात्रा के समाप्‍त होने के छह माह के अंदर जमा किया जाता है तब मुख्‍य वाणिज्‍य प्रबंधक का अनुमोदन प्राप्‍त करने के पश्‍चात जमानत राशि की 50 प्रतिशत राशि वापस की जाएगी। यदि फोल्‍डर को छह माह के बाद जमा किया जाता है तो कोई भी राशि वापस नहीं की जाएगी। हालांकि पार्टी की ओर से देय राशि की कटौती के पश्‍चात ही धन वापसी की जाएगी।

6 माह की समय सीमा समाप्‍त हो जाने के बाद प्रस्‍तुत आवेदन पत्रों के लिए वित्‍त सलाहकार एवं मुख्‍य लेखा अधिकारी के परामर्श से जमानत राशि की वापसी के लिए कालातीत दावों को निस्‍तारित करने की पूरी शक्ति महाप्रबंधक के पास है। इस प्रकार के रिफंड दावों पर विचार करने के लिए अधिकतम 3 वर्षों की समय सीमा निर्धारित की गई है।

निरस्‍तीकरण प्रभार :

यदि पार्टी द्वारा विशेष गाड़ी के मांग का अनुरोध गाड़ी के निर्धारित प्रस्‍थान दिन से दो दिन या उससे अधिक दिन पहले निरस्‍त किया जाता है तब पंजीकरण शुल्‍क की 10% राशि जब्‍त कर ली जाएगी। यदि गाड़ी के निर्धारित प्रस्‍थान से एक दिन पहले से (यात्रा के दिन को छोड़कर) तथा चार घंटे पहले तक यात्रा रद्‍द की जाती है तब प्रभार्य किराए का 25%रद्‍द प्रभार लगाया जाएगा। यदि गाड़ी के निर्धारित प्रस्‍थान समय के 4 घंटे के भीतर अथवा उसके बाद यात्रा रद्‍द की जाती है तब प्रभार्य किराए का 50 प्रतिशत रद्‍द प्रभार लगाया जाएगा।

13.      
      
डायनिंग यान /किचन यान /पेंट्री यान /जेनरेटर यान:

डायनिंग यान /किचन यान /पेंट्री यान /जेनरेटर यान पर बड़ी लाइन पर रु. 45 प्रति किमी. और मीटर गेज पर प्रतियान रु.41 प्रति किमी प्रभार वसूल किया जाएगा।

शयनयान श्रेणी किराया और संबंधित यान की अंकित वहन क्षमता या यात्रा करने वाले वास्‍तविक व्‍यक्‍तियों की संख्‍या जो भी ज्‍यादा उसी अनुसार सामान्‍य सेवा प्रभार वसूल किया जाएगा। यान में उपलब्‍ध बर्थों की संख्‍या यानों की वहन क्षमता को निर्धारित करेगी। ये प्रभार इन यानों की ढुलाई प्रभार के अतिरिक्‍त होंगे।

नोट-1 : जिस रेलवे से यह यात्रा प्रारंभ होती है उस रेलवे द्वारा उस कोच, स्‍पेशल गाड़ी के आयोजक/यात्रा के कंडक्‍टर अथवा उसे बुक कराने वाले व्‍यक्‍ति को भारतीय रेल सम्‍मेलन कोचिंग दर सूची सं. 25 पार्ट-I जिल्‍द 1 के अनुबंध ‘’एफ’’ में दिए गए फार्मेट में एक फोल्‍डर दिया जाएगा। पार्टी द्वारा इसे स्‍टेशन मास्‍टर के पास प्रस्‍तुत किया जाएगा, स्‍टेशन मास्‍टर की यह ड्यूटी होगी कि वह इसमें सभी विवरण भरकर हस्‍ताक्षर करे और स्‍टेशन की मुहर लगाए। कोच, स्‍पेशल गाड़ी के आयोजक/यात्रा के कंडक्‍टर अथवा उसे बुक कराने वाले व्‍यक्‍ति का यह उत्‍तरदायित्‍व होगा कि वह प्रत्‍येक हाल्‍ट पर इस फोल्‍डर से संबंधित विवरणों को स्‍टेशन मास्‍टर /गार्ड से भरवा कर उनका हस्‍ताक्षर ले तथा मुहर लगवाए।

इस फोल्‍डर में केवल उन्‍हीं हाल्‍टों के बारे में विवरण दर्ज किए जाएंगे, जिसके लिए पार्टी ने मूल यात्रा कार्यक्रम में अथवा बाद में अनुरोध किया हो। इसमें परिचालनिक हाल्‍टों पर रेलवे द्वारा अनुमोदित समय से अधिक समय तक रुकने का विवरण तब तक दर्ज नहीं किया जाएगा जब तक कि पार्टी द्वारा इसका लिखित अनुरोध न किया गया हो।

नोट-2:महाप्रबंधक/परिचालन उत्‍तर मध्‍य रेलवे, इलाहाबाद द्वारा अनुमोदित कार्यक्रम के आधार पर संबंधित स्‍टेशन प्रबंधक इसके साथ-साथ वास्‍तविक रनिंग विवरण और स्‍टाक आपूर्ति के आधार पर कुल प्रभार का आंकलन और वसूली करेगा।

नोट-3:वर्तमान नियमों के अनुसार समय-समय पर संशोधित अन्‍य प्रभार जैसे सुपरफास्‍ट प्रभार/अनुपूरक प्रभार/विकास अधिभार आदि की वसूली की जाएगी।

×××××

 




Source : CMS Team Last Reviewed : 10-09-2015  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.